ब्रेकिंग न्यूज़

50 CBI अफसरों की टीम जुटी है, भारत की सबसे बड़ी बैंक धोखाधड़ी

कहते हैं कि सच्चाई ज्यादा समय तक छिप नहीं सकती। आज नहीं तो कल राज खुल ही जाना है। दो भाइयों ने जब DHFL को फर्जीवाड़े के दम पर आगे बढ़ाया तो सोचा नहीं होगा कि उन्हें आगे चलकर जेल की काल कोठरी मिलेगी और एक के बाद एक राज खुलते जाएंगे।

कुछ साल पहले तक DHFL का विज्ञापन करते आपने बॉलीवुड के बादशाह शाहरुख खान को जरूर देखा होगा। जब कोई बड़ा सितारा हमें किसी कंपनी, पेस्ट, तेल या सेवाओं के बारे में बताता है तो हम उस कंपनी पर 100 प्रतिशत भरोसा करते हैं। कई दशकों से ऐसा होता आ रहा है। लेकिन यह DHFL तो फर्जीवाड़े में मास्टर निकली। एक के बाद उसके बड़े-बड़े ‘खेल’ उजागर हो रहे हैं। एक साल पहले पता चला था कि DHFL ने प्रधानमंत्री आवास योजना की मदद से गरीबों को घर देने के नाम पर सब्सिडी डकार ली। जी हां, इस प्राइवेट फाइनेंस कंपनी ने 80 हजार फर्जी अकाउंट खोले, आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के फर्जी लोगों को खड़ा किया, उन्हें लोन दिया और सरकार से मिली रियायत खा गए। बैंकों ने दो किस्तों में करीब 1900 करोड़ की छूट वधावन ब्रदर्स की कंपनी को ट्रांसफर कर दी। मतलब कागजों में बना गरीबों का घर और हकीकत में सब्सिडी पहुंच गई वधावन भाइयों के पास। इसे 14 हजार करोड़ रुपये का घोटाला बताया गया। यस बैंक के साथ मिलकर भी DHFL ने अंदरखाने भारी उलटफेर किया है। पहले हम 9,000 करोड़, 14 हजार करोड़, 23 हजार करोड़ को बड़ा घोटाला मानते गए लेकिन अब DHFL से ही जुड़ा 34,615 करोड़ का घोटाला सामने आया है।

सीबीआई के 50 अफसरों की टीम खंगाल रही कच्चा चिट्ठा 

जी हां, इसे सीबीआई की ओर से की जा रही अब तक की सबसे बड़ी बैंक धोखाधड़ी की जांच का मामला बताया जा रहा है। कंपनी के प्रमोटर रहे कपिल और धीरज वधावन के खिलाफ Bank Fraud का केस दर्ज हो गया है। आरोप है कि कंपनी ने यूनियन बैंक ऑफ इंडिया की अगुआई में 17 बैंकों के समूह के साथ 34,615 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की। सीबीआई के 50 से ज्यादा अधिकारियों की टीम ने कुछ घंटे पहले आरोपियों के मुबंई स्थित 12 ठिकानों की तलाशी ली है। वधावन बंधु यस बैंक के पूर्व मुख्य कार्यकारी अधिकारी राणा कपूर के खिलाफ दर्ज भ्रष्टाचार के मामले में आरोपी हैं।
कैसे हुआ घोटाला

खेल शुरू होता है साल 2010 से। UBI का आरोप है कि DHFL कंपनी ने बैंकों के समूह से विभिन्न व्यवस्थाओं के तहत लोन लेना शुरू किया। 2018 आते-आते यह42,871 करोड़ रुपये तक पहुंच गया। लेकिन मई 2019 से भुगतान में डिफॉल्ट करना शुरू कर दिया। इस तरह से DHFL ने कुल 17 बैंकों को हजारों करोड़ का चूना लगाया।

NPA और ऑडिट रिपोर्ट

अधिकारियों ने बताया कि कर्ज देने वाले बैंकों ने अलग-अलग समय पर खातों को एनपीए (गैर-निष्पादित संपत्तियां) घोषित किया। यूबीआई ने दावा किया कि KPMG ने ऑडिट की तब जाकर बड़ी वित्तीय अनियमितताएं, फंड की हेराफेरी, दस्तावेजों में फर्जीवाड़ा आदि पता चला।

जेल में हैं ब्रदर्स

एक समय जिन वधावन ब्रदर्स का प्राइवेट सेक्टर में सिक्का चलता था, आज वे जेल की सलाखों के पीछे हैं। कपिल और धीरज वधावन को मई 2020 में गिरफ्तार कर जेल में डाल दिया गया था। वह केस यस बैंक फ्रॉड से जुड़ा था। पिरामल कैपिटल और हाउसिंग फाइनेंस (PCHF) ने 34,250 करोड़ रुपये में डीएचएफएल का अधिग्रहण कर लिया है।

6 कंपनियां राडार पर

जांच एजेंसी ने पाया है कि दीवान हाउसिंग फाइनेंस कॉरपोरेशन, तत्कालीन चेयरमैन और प्रबंध निदेशक कपिल वधावन, निदेशक धीरज वधावन और रियल्टी क्षेत्र की छह कंपनियां यूनियन बैंक ऑफ इंडिया के नेतृत्व वाले बैंकों के समूह के साथ की गई धोखाधड़ी की साजिश में शामिल थीं। Sudhakar Shetty of Amaryllis Realtors समेत 6 रिएल्टर कंपनियां एजेंसी के रडार पर हैं। सीबीआई ने बैंक से 11 फरवरी, 2022 को मिली शिकायत के आधार पर यह कार्रवाई की है। इससे पहले 2021 में यूनियन बैंक ऑफ इंडिया ने सीबीआई को डीएचएफएल के प्रमोटर्स और तत्कालीन प्रबंधन की जांच करने के लिए लिखा था।

अब तक एबीजी शिपयार्ड था सबसे बड़ा स्कैम

डीएचएफएल के इस मामले के खुलने से पहले तक माना जा रहा था कि एबीजी शिपयार्ड का 23,000 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी सबसे बड़ा बैंक घोटाला है। सीबीआई ने 22,848 करोड़ रुपये के कथित बैंक घोटाले से जुड़ी जांच के सिलसिले में एबीजी शिपयार्ड लिमिटेड के पूर्व चेयरमैन और प्रबंध निदेशक ऋषि अग्रवाल से इसी साल पूछताछ की थी। तब कहा गया था कि यह किसी भी केंद्रीय एजेंसी द्वारा दर्ज किया गया इस तरह का सबसे बड़ा मामला है। एसबीआई की ओर से 25 अगस्त, 2020 को दी गई शिकायत के आधार पर सात फरवरी को मामला दर्ज करने के बाद सीबीआई ने इसकी जांच शुरू की थी।

Related posts

9 साल की बच्ची का रेप कर पत्थर से कुचल कर हत्या

Swati Prakash

Shehnaaz Gill Bollywood Debut: शहनाज गिल के बॉलीवुड डेब्यू की तैयारी, Salman Khan के साथ इस फिल्म में आएंगी नजर!

Anjali Tiwari

क्या#HarGharTiranga बीजेपी पार्टी को भारतीय परिवार की तस्वीर नहीं मिली, जो अरब परिवार की तस्वीरों का उपयोग कर रहे है।

Anjali Tiwari

Leave a Comment