ब्रेकिंग न्यूज़

नाग पंचमी के दिन कर लें ये उपाय, कुंडली से कालसर्प दोष के प्रभाव हो जाएंगे खत्म

सावन माह के शुक्ल पक्ष की पंचमी तिथि को नाग पंचमी पर्व मनाया जाता है. इस दिन नाग देवता की पूजा का विधान है. इस साल नाम पंचमी पर्व 2 अगस्त 2022, मंगलवार को मनाया जाएगा. इस बार भगवान शिव के साथ माता पार्वती का आशीर्वाद पाने का योग भी बन रहा है. सावन के मंगलवार मां पार्वती को समर्पित होते हैं. शास्त्रों के अनुसार इस दिन नागों की पूजा करने से व्यक्ति को कालसर्प दोष से मुक्ति मिलती है. साथ ही, अध्यात्मिक शक्ति, धन और मनोवांछित फल की प्राप्ति होती है. इस दिन कुछ विशेष उपाय भी लाभदायी साबित होते हैं. नाग पंचमी के दिन इन उपायों को करने से कालसर्प दोष को समाप्त किया जा सकता है.

नाग पंचमी पर कर लें ये उपाय 

– मान्यता है कि जिन लोगों की कुंडली में कालसर्प योग है, वे हर साल सावन में नाग पंचमी के दिन रुद्राभिषेक करें. उसके बाद अपने हाथ से चांदी के नाग-नागिनी का दान करना चाहिए. बता दें कि ये दान किसी जरूरमंद या गरीब ब्राह्मण को करना चाहिए.

– ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कुंडली में कालसर्प दोष होने पर नासिक में बाबा त्रंयबकेश्वर मंदिर जाकर नाग पंचमी के दिन पूजा करवाने से कालसर्प दोष से मुक्ति मिलती है.

– अगर किसी जातक की कुंडली में कालसर्प दोष है, तो व्यक्ति को 8, 9 और 10 मुखी नेपाली रुद्राक्ष गले में धारण करना चाहिए. साथ ही, महामृत्युंजय मंत्र का जाप नियमित रूप से एक माला करें.

– ज्योतिष शास्त्र के अनुसार कालसर्प दोष निवारण कवच भी धारण कर लें.

– ज्योतिष अनुसार सावन में नियमित रूप से राहु-केतु के मंत्र जाप से भी कालसर्प दोष के प्रभावों को कम किया जा सकता है.

Related posts

मां लक्ष्‍मी को प्रसन्‍न करने के सबसे असरदार तरीके

Swati Prakash

भोग लगाते और प्रसाद खाते समय इन चीजों का रखें विशेष ध्यान

Swati Prakash

Leave a Comment