ब्रेकिंग न्यूज़

T20 World Cup 2022: टीम इंडिया का स्क्वॉड अभी बदल सकता है? किसकी खुल सकती है किस्मत, क्या है डेडलाइन

T20 World Cup 2022: विश्व कप से पहले टीम इंडिया को ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका के खिलाफ 3-3 मैचों की टी20 सीरीज खेलनी है। भुवनेश्वर कुमार और मोहम्मद शमी की इसमें असली परीक्षा होगी।

T20 World Cup 2022: भारतीय टीम का आगामी टी20 वर्ल्ड कप के लिए 15 सदस्यीय स्क्वॉड घोषित कर दिया गया है। साथ ही चार खिलाड़ियों को स्टैंडबाय में भी रखा गया है। आपको बता दें कि टी20 विश्व कप 2022 की शुरुआत 16 अक्टूबर से क्वालीफायर राउंड के साथ हो रही है। वहीं टीम इंडिया को 17 अक्टूबर को अपना पहला वॉर्म अप मैच खेलना है। ऐसे में आईसीसी का एक नियम याद आता है जिसके मुताबिक अभी भी भारत का 15 सदस्यीय मेन स्क्वॉड बदला जा सकता है। जी हां और अटकलें सबसे ज्यादा तेज यह हैं कि अगर मोहम्मद शमी ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका सीरीज में अच्छा करते हैं तो उन्हें विश्व कप की मेन टीम में जगह दी जा सकती है।

कैसे बदलेगा टीम का स्क्वॉड?

दरअसल, नियमानुसार सभी टीमें टूर्नामेंट शुरू होने से एक हफ्ते पहले तक अपने मेन स्क्वॉड को रिजर्व खिलाड़ियों के साथ रिप्लेस कर सकते हैं। इसके तहत बहुत बड़ी संभावना है कि मोहम्मद शमी जो 140 की रफ्तार से अच्छे बाउंस के साथ ऑस्ट्रेलियाई पिचों पर गेंदबाजी करने का दमखम रखते हैं, उन्हें टीम में लिया जा सकता है। लेकिन यह सब उनके अगली दो सीरीज के 6 मैचों में निर्भर करेगा। शमी को ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका दोनों के खिलाफ 3-3 टी20 मैचों की सीरीज के स्क्वॉड में रखा गया है। उम्मीद है कि वह और बुमराह भारतीय गेंदबाजी की बागडोर भी संभालेंगे। ऐसे में अगर शमी कमाल करते हैं तो टीम का 15 सदस्यीय स्क्वॉड किसी भी समय 9-10 अक्टूबर से पहले बदल सकता है।

किसकी जगह शमी को मिलेगा मौका?

यह सब तो ठीक है कि अगर मोहम्मद शमी अच्छा करते हैं तो उन्हें चुना जा सकता है, लेकिन सबसे बड़ा सवाल यह है कि आखिर किसकी जगह? जसप्रीत बुमराह और हर्षल पटेल को तो बाहर करना टीम से असंभव सा लगता है। वहीं अर्शदीप सिंह एकमात्र टीम के बाएं हाथ के गेंदबाज हैं जिन्होंने एशिया कप 2022 में भी अपनी किफायती गेंदबाजी से प्रभावित किया था। अब बचा कौन भुवनेश्वर कुमार? भुवी के लिए दरअसल एशिया कप 2022 मिलाजुला रहा। उन्होंने जहां सर्वाधिक विकेट झटके वहीं पाकिस्तान और श्रीलंका के खिलाफ सुपर-4 में उनका 19वां ओवर टीम इंडिया की हार का बड़ा कारण साबित हुआ।

ऐसे में आगामी साउथ अफ्रीका और ऑस्ट्रेलिया सीरीज अकेले शमी ही नहीं भुवी के लिए भी एक इम्तिहान साबित हो सकती है। पिछले कुछ समय में भुवी को विकेट लेते तो देखा गया है लेकिन उनकी पुरानी दिक्कत यानी स्लॉग ओवर्स की पिटाई एक बार फिर से उजागर हो गई है। साथ ही शमी की गति और बाउंस भी भुवी के ऊपर भारी साबित हो सकता है ऑस्ट्रेलियाई पिचों पर। ऐसे में अगर स्विंग मास्टर भुवनेश्वर को जगह बरकरार रखनी है तो उन्हें कुछ खास कर दिखाना होगा। वहीं मोहम्मद शमी जिन्होंने पिछले टी20 वर्ल्ड कप के बाद से टी20 इंटरनेशनल मैच नहीं खेला है अपनी आईपीएल की फॉर्म को बरकरार रखना चाहेंगे।

Related posts

राहुल गांधी कांग्रेस अध्यक्ष के लिए पहली पसंद

Anjali Tiwari

बॉम्बे हाईकोर्ट का महत्वपूर्ण फैसला, नाबालिग के 16 सप्ताह के गर्भ को गिराने की अनुमति

NEHA SHARMA

Kanpur Violence: 3 FIR, 36 गिरफ्तार, 1000 अज्ञात पर केस… कानपुर हिंसा मामले में अब तक क्या हुई कार्रवाई

Anjali Tiwari

Leave a Comment