शनि साढ़े साती और ढैय्या से पीड़ित राशि वालों के लिए सावन का शनिवार खास

जिस तरह से सावन के सोमवार का विशेष महत्व माना जाता है उसी तरह से सावन में पड़ने वाले शनिवार भी खास होते हैं। कहते हैं जो व्यक्ति सावन के प्रत्येक शनिवार शनि देव के साथ-साथ भगवान शिव की भी अराधना करता है उसे शनि दोष से छुटकारा मिल जाता है। धार्मिक मान्यताओं अनुसार शनि देव भगवान शिव के भक्त हैं। जिस कारण जो व्यक्ति शिव जी की सच्चे मन से अराधना करता है उसे शनि परेशान नहीं करते। जानिए किन राशियों पर इस समय चल रही है शनि साढ़े साती और ढैय्या। जानिए शनि की दशा के बुरे प्रभाव से बचने के लिए सावन के इस शनिवार क्या करें उपाय

इस समय धनु, मकर और कुंभ राशि वालों पर शनि साढ़े साती चल रही है। वहीं मिथुन और तुला वालों पर शनि ढैय्या है। कुल मिलाकर इन 5 राशियों पर शनि की दशा चल रही है ऐसे में सावन का हर शनिवार इन राशि वालों के लिए बेहद ही खास रहने वाला है। जानिए किन उपायों से आप शनि की महादशा के बुरे प्रभाव से बच सकते हैं।

शनिवार के उपाय:
-सावन के प्रत्येक शनिवार शनि मंदिर जरूर जाएं।
-शनि देव की प्रतिमा पर सरसों का तेल चढ़ाएं।
-पीपल के पेड़ के समक्ष शाम के समय सरसों के तेल का दीपक जलाएं।
-सावन शनिवार में शिव जी की भी विधि विधान पूजा करें।
-शनि चालीसा के साथ-साथ शिव चालीसा भी पढ़ें।
-शनि देव के ‘ॐ प्रां प्रीं प्रौं सः शनैश्चराय नमः’ मंत्र का भी जाप करें।
-शनिवार में शिव तांडव स्त्रोत्र का पाठ करें।
-सावन शनिवार को छाया पात्र का दान करें।
-शिवलिंग का अभिषेक करें।

इस लेख में दी गई सूचनाएं सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है।

Related posts

31 जुलाई को है हरियाली तीज, व्रत के समय करें इन 8 नियमों का पालन

Swati Prakash

सावन के शनिवार भी हैं खास, इन उपायों से शांत होगा शनि का प्रकोप

Swati Prakash

शुभ संयोग में शुरू होगा सावन महीना! इन नियमों का करें पालन,

Swati Prakash

Leave a Comment