ब्रेकिंग न्यूज़

सावन के शनिवार भी हैं खास, इन उपायों से शांत होगा शनि का प्रकोप

सावन का महीना भगवान शिव का प्रिय महीना माना जाता है. इस महीने में की गई भोलेनाथ की पूजा-अर्चना और व्रत आदि के भोलेनाथ जल्द प्रसन्न होकर भक्तों पर कृपा बरसाते हैं. साथ ही, उनकी सभी मनोकामनाएं पूरी करते हैं. ऐसे में सावन के सोमवार का दिन और भी खास हो जाता है. लेकिन सोमवार के साथ सावन के शनिवार भी विशेष महत्व रखते हैं. इन्हें संपत शनिवार के नाम से भी जाना जाता है.

धार्मिक शास्त्रों के अनुसार शनिदेव भगवान शिव के शिष्य हैं. और ऐसा माना जाता है कि सावन माह में शनिदेव की पूजा से भगवान शिव का आशीर्वाद भी प्राप्त होता है. साथ ही भगवान शिव के भक्तों को शनिदेव कुछ नहीं कहते. माना जाता है कि शनिवार के दिन व्रत रखने से शनि शांत होता है. साथ ही, व्यक्ति को आरोग्य और धन-संपत्ति की प्राप्ति ह होती है. आइए जानें सावन के शनिवार के दिन किए जाने वाले उपायों के बारे में.

सावन में यूं करें शनि देव की पूजा-अराधना

– शनिदेव की कृपा पाने के लिए सावन में सुबह जल्दी उठकर स्नान आदि करें और इसके बाद भगवाान शिव की उपासना करें.

– शाम के समय शनिदेव की मंदिर जाएं और सरसों के तेल का दीपक जलाएं. घर के पास शनि मंदिर न हो तो पीपल के पेड़ पर भी सरसों के तेल का दीपक जला सकते हैं.

–   दीपक जलाने के बाद भगवान शनि देव की पंचाक्षर मंत्र का जाप करने से लाभ होगा. इसके बाद ॐ प्रां प्रीं प्रौं सः शनैश्चराय नमः का जाप करें. शनिदेव की आराधना के बाद भगवान शिव के तांडव स्तोत्र का पाठ करें.

– इसके बाद शनिदेव से जीवन की सभी समस्याओं से मुक्ति की प्रार्थना करें. इसके साथ ही सावन के हर शनिवार को छाया दान करें. मान्यता है कि शनिवार के दिन छाया दान करने से व्यक्ति को शनिदेव की कृपा प्राप्त होती है. साथ ही, मनचाहे फल की प्राप्ति होती है.

शनिवार के दिन कर लें ये खास उपाय 

– अटके हुए धन को वापस पाने के लिए एक लोहे की कटोरी में सरसों का तेल लें और उसमें मध्यमा उंगली डालकर शनिदेव के मंत्र ‘ॐ प्रां प्रीं प्रौं सः शनैश्चराय नमः’ का जाप करें. इसके बाद ये कटोरी दान करें दें. ये उपाय सावन के हर शनिवार के दिन करें.

– अगर आप शनि के प्रभावों से परेशान हैं, तो सावन के शनिवार को शिवलिंग पर सरसों के तेल से अभिषेक करें. साथ ही, सावन के हर शनिवार व्रत रखें और एक समय भोजन करें.

– आर्थिक समस्याओं से छुटकारा पाने के लिए सावन के शनिवार को नीम के लकड़ियों को हवन में इस्तेमाल करें. इसके साथ ही काले तिल को अग्नि में 108 बार आहुतियां देने से लाभ होगा.

Related posts

वृद्धि योग में इस साल की जन्माष्टमी होगी बड़ी खास

Swati Prakash

सरसों से तिल के तेल तक, ये उपाय हैं बेहद चमत्कारी

Swati Prakash

हर सोमवार करें ये उपाय भोलेनाथ की विशेष कृपा प्राप्त होगी

Swati Prakash

Leave a Comment