ब्रेकिंग न्यूज़

आज 90वीं इंटरपोल महासभा पीएम मोदी करेंगे संबोधित

प्रधानमंत्री आज मंगलवार इंटरपोल की 90वीं महासभा को संबोधित करने जा रहे है। नई दिल्ली के प्रगति मैदान में होने जा रहे इंटरपोल की 90वीं महासभा 18 से 21 अक्टूबर तक चलेगी। इस बैठक में 195 इंटरपोल सदस्य देशों के प्रतिनिधिमंडल शामिल होंगे। भारत में 25 साल बाद इस बैठक का आयोजन होने जा रहा है। इसमें मंत्री, देशों के पुलिस प्रमुख, राष्ट्रीय केंद्रीय ब्यूरो के प्रमुख और वरिष्ठ पुलिस अधिकारी हिस्सा लेंगे। केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह 21 अक्टूबर को महासभा के अंतिम दिन महासभा में हिस्सा लेंगे। भारत के 2022 में स्वतंत्रता के 75 साल के उत्सव के अवसर पर इंटरपोल महासभा की मेजबानी करने के प्रस्ताव को महासभा ने भारी बहुमत के साथ स्वीकार कर लिया था।

पाकिस्तान का प्रतिनिधिमंडल भी हो सकता है शामिल

इंटरपोल महासभा में पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल ने भी रजिस्ट्रेशन कराया है। मीडिया में चल रही खबरों के अनुसार, दो सदस्यीय पाकिस्तानी प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व संघीय जांच एजेंसी के महानिदेशक स्तर के अधिकारी करेंगे। इंटरपोल के महासचिव जर्गेन स्टॉक ने कहा कि रूस और यूक्रेन दोनों के प्रतिनिधि भी महासभा में शामिल होने के लिए आ चुके हैं।

25 साल के बाद भारत में हो रही यह बैठक

महासभा इंटरपोल एक सर्वोच्च सरकारी निकाय है। इसके कामकाज से संबंधित महत्वपूर्ण निर्णय लेने के लिए साल में एक बार बैठक आयोजित होती है। पीएमओ के मुताबिक भारत में इंटरपोल महासभा की बैठक 25 सालों के अंतराल के बाद हो रही है। पिछली बार भारत में यह महासभा 1997 में हुई थी। पीएमओ ने कहा कि यह आयोजन भारत की कानून और व्यवस्था के तंत्र से दुनिया को अवगत कराने का एक अवसर है।

वित्तीय अपराधों और भ्रष्टाचार के विभिन्न पहलुओं पर होगी चर्चा

प्रधानमंत्री कार्यालय के मुताबिक, प्रतिनिधियों में सदस्य देशों के मंत्री, पुलिस प्रमुख, केंद्रीय ब्यूरो के प्रमुख और वरिष्ठ पुलिस अधिकारी हिस्सा ले रहे है। इसकी साल में एक बार बैठक होती है। माना जा रहा है कि आज होने वाली इस बैठक में वित्तीय अपराधों और भ्रष्टाचार के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा की जाएगी।

दिल्ली पुलिस ने जारी किया ट्रैफिक अलर्ट

इंटरपोल महासभा कार्यक्रम की वजह से दिल्ली में चार दिनों तक यातायात प्रभावित रहेगा। इसको लेकर दिल्ली यातायात पुलिस ने ट्रैफिक अलर्ट जारी किया है। यातायात पुलिस ने कहा कि दिल्ली जिले के आसपास यात्रा करने वाले लोगों को देरी का सामना करना पड़ेगा। इस दौरान उन्हें वैकल्पिक रास्तों पर विचार करना चाहिए। यातायात पुलिस ने जोर दिया कि नयी दिल्ली जिले में सड़कों पर वाहनों की संख्या को कम करना अहम है। इसके साथ ही निगमों, संगठनों और आम लोगों से भी समर्थन मांगा है।

Related posts

टेक्नोलॉजी के नए युग का आगाज PM मोदी ने लॉन्च की 5G सर्विस, अब 10 गुना होगी इंटरनेट स्पीड

Swati Prakash

द्रौपदी मुर्मू के जय जोहार कहते ही संसद के केंद्रीय कक्ष में स्मृति इरानी का रिएक्शन तो देखिए

Anjali Tiwari

अरविंद केजरीवाल का चौंकाने वाला दावा! अब राघव चड्ढा होंगे गिरफ्तार

Swati Prakash

Leave a Comment