ब्रेकिंग न्यूज़

ये दो राशियों के लोग हो जाएं सतर्क, जुलाई में शुरू होने जा रही है शनि ढैय्या

12 जुलाई में शनि वक्री अवस्था में अपनी स्वराशि मकर में प्रवेश करेंगे। जानिए शनि ग्रह में होने वाले इस बदलाव से किन राशि वालों पर शनि ढैय्या शुरू हो जाएगी।

जुलाई की 12 तारीख को शनि अपनी स्वराशि मकर में प्रवेश करने जा रहे हैं। जहां ये 17 जनवरी 2023 तक विराजमान रहेंगे। बता दें शनि ने हाल ही में अपनी राशि बदली थी। 29 अप्रैल को शनि ने कुंभ राशि में प्रवेश किया था और 5 जून को ये वक्री हो गए थे। अब 12 जुलाई में शनि वक्री अवस्था में अपनी स्वराशि मकर में प्रवेश करेंगे। जानिए शनि ग्रह में होने वाले इस बदलाव से किन राशि वालों पर शनि ढैय्या शुरू हो जाएगी।

इन राशियों पर रहेगी शनि ढैय्या: शनि के मकर राशि में प्रवेश करते ही मिथुन और तुला वालों पर शनि ढैय्या शुरू हो जाएगी। इन दोनों राशियों पर 12 जुलाई 2022 से लेकर 17 जनवरी 2023 तक शनि ढैय्या रहेगी। बता दें कि 29 अप्रैल में इन दोनों राशि के लोगों को शनि ढैय्या से मुक्ति मिल गई थी। लेकिन शनि के फिर से मकर राशि में गोचर करने के कारण ये दो राशियां एक बार फिर शनि ढैय्या की चपेट में आ जायेंगी। लेकिन इस बार इन पर शनि ढैय्या की अवधि ढाई साल की नहीं बल्कि सिर्फ 6 महीने की रहेगी।

6 महीने के लिए ये दो राशियां शनि ढैय्या से रहेंगी मुक्त: 29 अप्रैल 2022 से कर्क और वृश्चिक वालों पर शनि ढैय्या शुरू हो गई थी। लेकिन 12 जुलाई से शनि के मकर राशि में आने के कारण ये 2 राशियां 6 महीने के लिए शनि ढैय्या से मुक्त हो जाएंगी। लेकिन 17 जनवरी 2023 से इन राशियों के लोग दोबारा से शनि ढैय्या की चपेट में आ जायेंगे।

शनि की ढैय्या से बचने के उपाय: शनि की ढैय्या के दौरान जीवन में उतार-चढ़ाव का सामना करना पड़ सकता है। बनते हुए काम बिगड़ने लगते हैं। इसलिए इस दौरान सतर्कता से काम करने की सलाह दी जाती है। शनि के इस प्रभाव से बचने के लिए जरूरतमंद लोगों की ज्यादा से ज्यादा मदद करनी चाहिए। चीटियों को आटा डालना चाहिए। शनिवार को सरसों का तेल शनिदेव को अर्पित करना चाहिए और रामचरित मानस के सुंदरकांड का पाठ करना चाहिए।

 इस लेख में दी गई सूचनाएं सिर्फ मान्यताओं और जानकारियों पर आधारित है।

Related posts

शनि साढ़े साती और ढैय्या से पीड़ित राशि वालों के लिए सावन का शनिवार खास

Swati Prakash

मिथुन राशि वालों को सूर्यदेव देंगे सुख-चैन, शुभ फल के साथ रोगों से भी मिलेगी मुक्ति

Swati Prakash

दुबई में बना भव्य हिंदू मंदिर, दशहरा पर अनावरण की तैयारी

Swati Prakash

Leave a Comment