ब्रेकिंग न्यूज़

दिल्ली से किडनैप किए गए बच्चे का शव मेरठ से बरामद, परिवार ने सड़क की जाम, आरोपी गिरफ्तार

दिल्ली के प्रीत विहार इलाके से एक पड़ोसी ने तीन साल के बच्चे की गला काटकर हत्या कर दी. आरोपी पड़ोसी नाबालिग के गिरफ्तार होने के बाद वारदात का खुलासा हुआ है. इस मामले में आशंका जताई जा रही है कि आरोपी ने तांत्रिक क्रिया को पूरा करने के लिए उसकी बलि दी है. आरोपी की निशानदेही पर बच्चे का शव दो हिस्सों में मेरठ से बरामद किया गया है. दिल्ली पुलिस की टीम ने मंगलवार को मेरठ में ही शव का पोस्टमार्टम करवाया है. इधर, बच्चे की हत्या की जानकारी मिलने के बाद उसके घरवालों ने प्रीत विहार इलाके में विकास मार्ग जाम कर दिया. जाम खुलवाने पहुंची पुलिस पर प्रदर्शन कर रहे लोगों ने पथराव भी किया.

परिवार के लोगों पुलिस को 30 नवंबर को शिकायत दी

पुलिस के मुताबिक मृतक बच्चा अपने परिवार के साथ चित्रा विहार की ‌झुग्गियों में रहता था. परिवार में माता-पिता के अलावा सात और पांच साल की दो बहनें हैं. बच्चे का पिता रिक्शा चलाता है जबकि मां घरों में साफ-सफाई का काम करती है. परिवार के लोगों पुलिस को 30 नवंबर को दी शिकायत में बताया कि बच्चा 30 नवंबर की शाम को अपनी बहनों के साथ घर के बाहर खेल रहा था.

कुछ देर बाद वहां पड़ोस में रहने वाला एक नाबालिग पहुंचा और बच्चे को चीज दिलाने के बहाने से अपने साथ ले गया. जब बच्चे की बहन ने आरोपी को देखा तो अपने भाई को रोका और नाबालिग को उसे न ले जाने के लिए कहा. लेकिन आरोपी ने बच्चे को चीज दिलाने के बाद घर छोड देने की बात कही और अपने साथ ले गया.

बच्चा घर वापस नहीं लौटा

इसके बाद से वह बच्चा घर वापस नहीं लौटा. जिसके बाद परिजनों ने उसकी तलाश शुरू की, बच्चे की कोई जानकारी नहीं मिलने पर परिवार ने प्रीत विहार थाना पुलिस को शिकायत दी. पुलिस ने अपहरण का मामला दर्ज कर उसकी की तलाश शुरू की.  पुलिस ने आरोपी की तलाश में कई जगह छापेमारी की और सोमवार शाम को आरोपी को पकड़ लिया.

पूछताछ करने पर आरोपी ने बताया कि उसने मासूम की हत्या कर शव को इंचौली के गांव नंगली-ईसा में फेंक दिया है. मंगलवार देर शाम बच्चे के परिवार के लोग प्रीत विहार थाने पहुंचे.

जहां से बच्चे के शव के बारे में उन्हें कोई जानकारी नहीं दी गई तो परिजनों ने प्रदर्शन शुरू कर दिया. प्रदर्शन करते हुए सभी लोग विकास मार्ग पर आ गए. पुलिस ने लोगों को हटाने की कोशिश की तो लोगों ने पथराव शुरू कर दिया. आरोपी से पूछताछ के बाद पुलिस टीम मेरठ के इंचौली, गांव नंगली-ईसा पहुंची. जहां मेरठ पुलिस ने पहले बच्चे का बिना सिर वाला धड़ बरामद किया गया. जांच का दायरा बढ़ाया गया तो धड़ से काफी दूर सिर भी पुलिस को मिल गया. उसे जानवर नोंच रहे थे. शव से एक हाथ भी गायब था.

Related posts

देश में 24 घंटे में 9923 लोग हुए कोरोना से संक्रमित,

Swati Prakash

Covid 19 Update: पिछले 24 घंटे में कोरोना वायरस के आए 2,710 नए मामले, एक्टिव केस में भी आया उछाल

Anjali Tiwari

हैवान बना सरकारी स्कूल का शिक्षक, लात-घूसों से पीट-पीटकर मासूम छात्र की तोड़ दी रीढ़ की हड्डी

Anjali Tiwari

Leave a Comment