ब्रेकिंग न्यूज़

Independence Day 2022: 1947 की दुर्लभ तस्वीरें, देखें आजादी के बाद 75 सालों में कितना बदल गया भारत

Independence Day 2022: 1947 की दुर्लभ तस्वीरें, देखें आजादी के बाद 75 सालों में कितना बदल गया भारत

लाइफस्टाइल डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: शिवानी अवस्थी Updated Mon, 15 Aug 2022 12:24 AM IST
1947 की दुर्लभ तस्वीर

1 of 5

Independence Day 2022: आजादी का मतलब भारत से बेहतर कौन समझ सकता है। कई सालों तक अंग्रेजों के गुलाम बनकर रहने के बाद जब भारत को स्वतंत्रता मिली तो ये दिन इतिहास के पन्नों में सुनहरे अक्षरों में दर्ज हो गया। आजादी को पाना आसान नहीं था। भारत के कई वीर सपूतों, बेटियों ने अपनी जान तक देश के लिए न्यौछावर कर दी। आजादी के लिए सालों संघर्ष हुआ। झांसी की रानी लक्ष्मीबाई से लेकर मंगल पांडे तक और महात्मा गांधी से लेकर चंद्रशेखर आजाद व भगत सिंह जैसे हजारों स्वतंत्रता सेनानियों ने अपना जीवन आजाद भारत के सपने को पूरा करने में बिता दिया। आखिरकार 15 अगस्त 1947 को देश स्वतंत्र हो गया। भारत के पहले प्रधानमंत्री ने लाल किले की प्राचीर से ध्वजारोहण किया। आजादी के 75 साल पूरे होने पर देश में काफी बदलाव आया लेकिन नहीं बदली तो आजादी के जश्न की परंपरा। हर साल 15 अगस्त को लाल किले से ध्वजारोहण किया जाता है। गुलाम भारत के दौर में हम नहीं थे, लेकिन उस समय के नजारा कैसा होगा इसकी सिर्फ कल्पना कर सकते हैं। अगर आप जानना चाहते है कि आजादी के वक्त का नजारा क्या था, तो यहां 1947 की कुछ दुर्लभ तस्वीरें दी जा रही हैं
यहां एक तस्वीर में भारत के अंतिम वायसराय लार्ड माउंटबेटन हैं, जो भारत के नेताओं के साथ बैठक कर सत्ता हस्तांतरण की तैयार कर रहे हैं। यह तस्वीर भारत की आजाद होने के 11 दिन पहले की है। दूसरी तस्वीर में आजाद भारत के प्रधानमंत्री कैबिनेट बैठक कर रहे हैं। उनके साथ गृहमंत्री और रक्षामंत्री हैं।
इस तस्वीर में आजाद भारत के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू और वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दिखाई दे रहे हैं। पहली तस्वीर में पंडित जवाहरलाल नेहरू घोड़े पर बैठकर जा रहे हैं। वह भारत की आजादी के बाद हुई कांग्रेस कार्यकारिणी की बैठक में भाग लेने के लिए जा रहे हैं। उस दौरान प्रधानमंत्री की सुरक्षा आज के समय जैसी नहीं थी। दूसरी तस्वीर में पीएम मोदी हैं, जिनकी सुरक्षा के लिए एसपीजी, बुलेट प्रूफ गाड़ी है।
इस तस्वीर में एक तरफ देश के पहले प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू 14 अगस्त की शाम को संविधान सभा को संबोधित कर रहे हैं। ये स्वतंत्र भारत के नाम पहला संबोधन था। वहीं दूसरी तस्वीर में भारत के वर्तमान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 15 अगस्त को दिल्ली के लाल किले के प्राचीर से ध्वजारोहण कर रहे हैं। 
इन दोनों तस्वीरों का नजारा और अर्थ एक ही है, बस समय अलग अलग है। पहली तस्वीर भारत की आजादी के बाद तिरंगा फहराए जाने की है। आजादी के जश्न में भारतीय बड़ी संख्या में शामिल हुए हैं। लोग तिरंगे को सलामी दे रहे हैं। भारत की स्वतंत्रता की पहली सुबह लोग बड़ी संख्या में इंडिया गेट पहुंचे और आजादी का जश्न मनाया। दूसरी तस्वीर आजादी मिलने के कई सालों बाद की है। स्वतंत्रता दिवस पर लोग आजादी का जश्न मनाने पहुंचे हैं। लाल किले के सामने परेड हो रही है और ध्वजारोहण किया गया है।

 

Related posts

दोस्त के साथ मिलकर पत्नी का गला रेतकर की हत्या,

Anjali Tiwari

राजू श्रीवास्तव की हालत गंभीर

Anjali Tiwari

पत्नी को पेड़ से बांधकर मारे डंडे

Anjali Tiwari

Leave a Comment