ब्रेकिंग न्यूज़

Drugs Case: ड्रग्स केस में शाहरुख खान के बेटे आर्यन को मिली क्लीन चिट, नहीं मिले कोई सबूत

Clean Chit to Aryan Khan: मुंबई ड्रग्स केस में बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को क्लीन चिट मिल गई है. पुलिस चार्जशीट में आर्यन खान का नाम नहीं है. ड्रग्स केस में शुक्रवार को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने 6000 पन्ने की चार्जशीट दाखिल की, जिसमें 14 आरोपियों के नाम हैं.

Clean Chit to Aryan Khan: मुंबई ड्रग्स केस में बॉलीवुड सुपरस्टार शाहरुख खान के बेटे आर्यन खान को क्लीन चिट मिल गई है. पुलिस चार्जशीट में आर्यन खान का नाम नहीं है. ड्रग्स केस में शुक्रवार को नारकोटिक्स कंट्रोल ब्यूरो (एनसीबी) ने 6000 पन्ने की चार्जशीट दाखिल की, जिसमें 14 आरोपियों के नाम हैं. मुंबई के क्रूज शिप पर पिछले साल ड्रग्स मिला था.

NCB ने किया था आर्यन को गिरफ्तार

एजेंसी के वरिष्ठ अफसर संजय कुमार सिंह ने कहा, एनसीबी को आर्यन खान और अन्य पांच लोगों के खिलाफ कोई पुख्ता सबूत नहीं मिले. उन्होंने कहा, आर्यन और मोहक को छोड़कर सभी आरोपितों के पास नशीला पदार्थ पाया गया. 14 लोगों के खिलाफ एनडीपीएस एक्ट की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया जा रहा है. बाकी छह लोगों के खिलाफ सबूतों के अभाव में शिकायत दर्ज नहीं की जा रही है.

3 अक्टूबर 2021 को क्रूज पर चल रही ड्रग्स पार्टी के मामले में एनसीबी (NCB) ने छापेमारी के बाद आर्यन खान (Aryan Khan) को गिरफ्तार किया था. करीब 28 दिनों तक जेल में रहने के बाद आर्यन को बॉम्बे हाई कोर्ट से जमानत मिली थी.

एसआईटी ने किए थे कई अहम खुलासे

कुछ महीने पहले विशेष जांच दल (SIT) ने अपनी जांच के कुछ निष्कर्ष साझा किए थे, जो एनसीबी मुंबई के आरोपों के विपरीत थे. एसआईटी जांच में पाया गया था कि आर्यन खान (Aryan Khan) के पास कभी भी ड्रग्स नहीं था, इसलिए उनका फोन लेने और उनकी चैट की जांच करने की कोई जरूरत नहीं थी. एसआईटी ने कहा था कि चैट से यह पता नहीं चलता कि आर्यन खान किसी अंतरराष्ट्रीय सिंडिकेट का हिस्सा थे. इसके अलावा छापे की वीडियो-रिकॉर्डिंग नहीं की गई थी, जैसा कि एनसीबी मैनुअल द्वारा अनिवार्य किया गया था.

विशेष जांच दल (SIT) की जांच टीम ने कहा था कि ड्रग्स पार्टी के दौरान की गई  छापेमारी में कई अनियमितताएं बरती गईं. एनसीबी मैनुअल के अनुसार छापेमारी के दौरान वीडियो रिकॉर्डिंग अनिवार्य है, लेकिन ड्रग्स केस में छापेमारी के दौरान ऐसा नहीं किया गया था. एसआईटी जांच की तर्कों से छापेमारी और एजेंसी के मुंबई क्षेत्रीय इकाई के पूर्व निदेशक समीर वानखेड़े (Sameer Wankhede) की कार्यशैली पर सवाल उठे थे. समीर वानखेड़े को उनके मूल कैडर में वापस भेजा जा चुका है और मामले की जांच के लिए एसआईटी और एजेंसी की सतर्कता टीम दोनों द्वारा कई बार पूछताछ की जा चुकी है.

Related posts

जयपुर में पीएचईडी का मुख्य अभियंता 10 लाख रुपये रिश्वत लेते गिरफ्तार

Anjali Tiwari

PPS सिस्टम लागू, आज से आपका बैंक चेक क्लियर करने से कर सकता है मना

Swati Prakash

The Kashmir Files पर ज्‍यूरी चीफ के विवादित बयान पर इजरायल ने दी सफाई, अनुपम खेर ने जमकर कोसा

Anjali Tiwari

Leave a Comment