ब्रेकिंग न्यूज़

डीएम ने कांवड़ियों पर हेलीकॉप्टर से बरसाए फूल, CM योगी ने किया हवाई निरीक्षण

मेरठ रेंज के आईजी प्रवीण कुमार (IG Praveen Kumar) और मेरठ के डीएम दीपक मीणा (DM Deepak Meena) ने शिव भक्त कांवड़ियों (Kanwariyas) के ऊपर हैलीकाप्टर से पुष्प वर्षा कर मेरठ में कांवड़ियों का स्वागत किया है. इसके लिए कल यानी कि रविवार को भी मेरठ और सहारनपुर में कांवड़ियों पर हैलीकॉप्टर से फूल बरसाने के लिए अधिकारियों ने योजना बनाई थी.

मेरठ: 

मेरठ रेंज के आईजी प्रवीण कुमार (IG Praveen Kumar) और मेरठ के डीएम दीपक मीणा (DM Deepak Meena) ने शिव भक्त कांवड़ियों (Kanwariyas) के ऊपर हैलीकाप्टर से पुष्प वर्षा कर मेरठ में कांवड़ियों का स्वागत किया है. इसके लिए कल यानी कि रविवार को भी मेरठ और सहारनपुर में कांवड़ियों पर हैलीकॉप्टर से फूल बरसाने के लिए अधिकारियों ने योजना बनाई थी.

आज सीएम योगी आदित्यनाथ ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हेलीकॉप्टर से कांवड़ यात्रा का निरीक्षण किया. इस दौरान उन्होंने कांवड़ियों पर फूल भी बरसाए. राज्य सरकार के एक प्रवक्ता ने बताया कि सोमवार को दिल्ली की दो दिवसीय यात्रा से वापसी के दौरान मुख्यमंत्री ने हेलीकॉप्टर से पश्चिमी उत्तर प्रदेश में कांवड़ यात्रा का जायजा लिया और कांवड़ियों पर पुष्प वर्षा भी की. योगी ने पूर्व में ही प्रशासनिक अधिकारियों को हेलीकॉप्टर से कांवड़ियों पर पुष्प वर्षा करने और कांवड़ यात्रा की निगरानी करने के निर्देश दिए थे.

कोरोना महामारी के बाद यह पहला मौका है, जब प्रदेश में कांवड़ यात्रा आयोजित की जा रही है. सड़कों पर शिव भक्तों का सैलाब उमड़ पड़ा है. कहीं विशाल झांकियां निकाली जा रही हैं तो कहीं योगी-मोदी के मुखौटे पहने कांवड़िए मार्गों से गुजर रहे हैं. शिव भक्तों के स्वागत के लिए सजा शहरों का मुख्य मार्ग रंग-बिरंगी रोशनी से जगमगा रहा है. जगह-जगह कांवड़ सेवा शिविर स्थापित किए गए हैं.

योगी ने 18 जुलाई को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिये जिलों में तैनात वरिष्ठ पुलिस और प्रशासनिक अधिकारियों की जिम्मेदारी और जवाबदेही तय करते हुए निर्देश दिया था कि कांवड़ यात्रा मार्ग में जगह-जगह स्वास्थ्य चौकियां स्थापित की जाएं और किसी की भी तरह की धार्मिक यात्रा या जुलूस में अस्त्र-शस्त्र का प्रदर्शन नहीं होना चाहिए.

मुख्यमंत्री ने यह भी कहा था कि गाजियाबाद-हरिद्वार मार्ग कांवड़ यात्रा की दृष्टि से सर्वाधिक व्यस्त रहता है और यहां दूसरे राज्यों के श्रद्धालु भी आते हैं, इसलिए सीमावर्ती राज्यों से भी संवाद बनाए रखें। उन्होंने किसी भी तरह की अप्रिय सूचना मिलने पर जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षकों को खुद मौके पर जाने के निर्देश दिए थे.

Related posts

दिल्ली में आज निजी स्कूल कैब चालकों की हड़ताल,

Swati Prakash

हार्दिक पांड्या इन प्लेयर्स को देंगे मौका टी20 मैच में ऐसी होगी भारत की टीम

Swati Prakash

पानी से बचने के लिए सरकारी स्कूल की शिक्षिका ने दिखाई ‘कलाकारी

Anjali Tiwari

Leave a Comment