ब्रेकिंग न्यूज़

मणिपुर में रेस्क्यू ऑपरेशन के बीच एक और भूस्खलन, अब तक 81 लोगों की मौत

मणिपुर में कुदरत का कहर जारी है। नोनी जिले में शनिवार को एक और भूस्खलन हुआ है। इसी इलाके के पास यानी नोनी जिले के तुपुल रेलवे स्टेशन के पास 29 जून को बड़े पैमाने पर भूस्खलन हुआ था, जिसमें अब तक 81 लोगों की मौत हुई है। जान गंवाने वालों में टेरिटोरियल आर्मी के 18 जवान भी हैं।

इस इलाके में राहत व बचाव कार्य में शनिवार को भी कई टीमें जुटी हुई हैं। इससे पहले शुक्रवार को मणिपुर के मुख्यमंत्री एन बीरेन सिंह ने नोनी जिले में भूस्खलन को राज्य के इतिहास की सबसे भयावह घटना करार दिया था। बचाव कार्यों में लगे कर्मियों को प्रोत्साहित करने के लिए मुख्यमंत्री सिंह ने फिर घटनास्थल का दौरा किया।

मुख्यमंत्री ने कहा, “यह राज्य के इतिहास की सबसे भयावह घटना है। हमने 81 लोगों की जान गंवाई है, एक प्रादेशिक सेना के जवान समेत 18 को बचा लिया गया है। अभी भी लगभग 55 लोग फंसे हुए हैं। मिट्टी के कारण शवों को बरामद करने में 2-3 दिन लगेंगे।” सीएम एन बीरेन सिंह ने मृतकों के परिजन को पांच-पांच लाख रु और घायलों को 50-50 हजार रुपए के मुआवजे की घोषणा की है।

Related posts

Chadwick Boseman के निधन के बाद किसे मिली Black Panther की जिम्मेदारी?

Swati Prakash

द्रौपदी मुर्मू बनीं भारत की पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति

Anjali Tiwari

ऋषिकेश के नशा मुक्ति केंद्र में गैंगरेप,

Swati Prakash

Leave a Comment