ब्रेकिंग न्यूज़

समाज के लिए एक मिसाल सात गोलियां लगने के बावजूद, क्रैक की UPSC 2021 परीक्षा

हमारे समाज में एक कहावत बहुत मशहूर है कि “वही इंसान सबसे शानदार और जानदार है, जिसके इरादे नेक और ईमानदार है.” इस कहावत को ईमानदार नौकरशाह रिंकू राही ने सच कर दिखाया है. रिंकू राही की कहानी किसी बॉलीवुड ब्लॉकबस्टर फिल्म से कम नहीं है. रिंकू ने 100 करोड़ रुपए के छात्रवृत्ति घोटाले का खुलासा किया था, जिसके परिणामस्वरूप उन पर ताबड़तोड़ गोलियां चलाई गई थी. इतनी गोलियां लगने के बावजूद भी, रिंकू ने अपना जीवन से हार नहीं मानी और इस साल सिविल सेवा परीक्षा 2021 पास कर डाली.

रिंकू अपनी प्राथमिक पढ़ाई करने के बाद साल 2008 में पीसीएस अधिकारी बने थे, जिसके तहत उन्हें उत्तर प्रदेश के मुजफ्फरनगर में समाज कल्याण अधिकारी के रूप में नियुक्त किया गया था. इस दौरान रिंकू ने छात्रवृत्ति घोटाले का खुलासा किया था, जिस कारण उन्हें साल 2009 में सात गोलियां मारी गई थी. सात गोलियों में से तीन गोलियां उनके चेहरे पर लगी थी, जिस कारण उनके एक आंख की रोशनी चली गई थी. साथ ही उन्हें एक कान से सुनाई देना भी बंद हो गया था. इसके बावजूद अपने जिंदगी से हार ना मानते हुए और रिंकू ने इस साल यूपीएससी परीक्षा 2021 पास कर डाली. इसी के साथ रिंकू ने समाज के लिए एक मिसाल भी कायम की है.

Related posts

बॉलीवुड की इन फिल्मों के तगड़े कलेक्शन ने तोड़े हैं साउथ की फिल्मों के रिकॉर्ड,

Anjali Tiwari

“अभी भी एक लंबा रास्ता करना है तय” : कोरोना महामारी खत्म नहीं हुई,

Anjali Tiwari

SBI Clerk 2022: जल्द ही समाप्त हो जाएगी आवेदन प्रक्रिया, जानिए प्री टेस्ट में क्या हो सकता है कटऑफ का गणित

mubasra parveen

Leave a Comment