ब्रेकिंग न्यूज़

सुपर एक्शन में सीएम मान, कांग्रेस के पूर्व मंत्रियों करप्शन पर डायरेक्ट एक्शन…. इस लाइन पर रखना

पंजाब में सत्ता बदलते ही 4 पूर्व कांग्रेसी मंत्री करप्शन के आरोप में मुश्किल में घिर गए हैं। पूर्व जंगलात मंत्री साधु सिंह धर्मसोत गिरफ्तार हो चुके हैं। दूसरे पूर्व जंगलात मंत्री संगत सिंह गिलजियां की तलाश है। पूर्व पंचायत मंत्री तृप्त राजिंदर बाजवा के खिलाफ जांच शुरू हो चुकी है। वहीं अब फूड सप्लाई डिपार्टमेंट में टेंडर को लेकर पूर्व फूड सप्लाई मंत्री भारत भूषण आशु रडार पर आ गए हैं। संगरूर लोकसभा सीट पर उपचुनाव से पहले AAP सरकार की यह कार्रवाई कांग्रेस के लिए टेंशन बन गई है।

 

कांग्रेस के ये पूर्व मंत्री निशाने पर

साधु सिंह धर्मसोत :चंडीगढ़। भ्रष्टाचार के मामले में गिरफ्तार पंजाब के पूर्व मंत्री और कांग्रेस के वरिष्ठ नेता साधु सिंह धर्मसोत लेकर अहम खबर सामने आई है। अदालत ने साधु सिंह की रिमांड को 3 दिन के लिए बड़ा दिया है। जानकरी के अनुसार विजिलेंस द्वारा 5 दिन का समय मांगा गया था पर अदालत ने फिलहाल सिर्फ 3 दिन का रिमांड दिया है। इसके बाद 13 जून को फिर उनकी अदालत में पेशी होगी जिसके बाद अदालत अगला फैसला सुनाएगी। इस दौरान साधु सिंह ने आरोप लगते हुए कहा कि सरकार ठेकेदार को बचाना चाहती है। गौरतलब है कि साधु सिंह को पेड़ काटने के बदले रिश्वत लेने के आरोपों के चलते गिरफ्तार किया गया था। धर्मसोत ने पेड़ कटाई में कमीशन खाया

पंजाब विजिलेंस ब्यूरो ने दावा किया कि साधु सिंह धर्मसोत ने मंत्री रहते पेड़ कटाई में कमीशन खाया। वह एक पेड़ के बदले 500 रुपए कमीशन लेते थे। लीगल परमिट पर काटे इन पेड़ों में कमीशन की डीलिंग धर्मसोत के रखे आदमी करते थे। कैप्टन अमरिंदर सिंह सरकार में मंत्री रहे धर्मसोत के करीब सवा करोड़ रिश्वतखोरी के खुलासे का दावा किया गया। धर्मसोत फिलहाल विजिलेंस ब्यूरो की रिमांड पर हैं। हालांकि, धर्मसोत ने इन आरोपों से इनकार दिया।धर्मसोत ने पेड़ कटाई में कमीशन खाया

संगत सिंह गिलजियां :संगत सिंह गिलजियां पर भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम और आईपीसी की धारा 120 बी की विभिन्न धाराओं के तहत मामला दर्ज किया गया है। उन्हें चरणजीत सिंह चन्नी के मुख्यमंत्री के रूप में पदभार संभालने के बाद वन मंत्री का प्रभार दिया गया था। उन पर वन मंत्री के रूप में करीब चार महीने के कार्यकाल में 6.4 करोड़ रुपये जमा करने का आरोप लगा है।

तृप्त राजिंदर बाजवा ; पूर्व मंत्री तृप्त राजिंदर पर गांव भगतपुरा की करोड़ों रुपये की जमीन कौड़ियों के भाव में बेचकर घोटाले के आरोप लगाए हैं। धालीवाल ने गदावा किया कि गोल्डन गेट के पास स्थित अल्फा इंटरनेशनल सिटी कालोनी में पंचायत के 32 कनाल 16 मरले की जमीन सवा करोड़ रुपये में बेच दी, जबकि इसकी कीमत करीब 28 करोड़ रुपये के आसपास थी। अहम पहलू यह है कि कांग्रेस सरकार के चुनाव हारने के अगले दिन ही यह जमीन बेची गई है। 

भारत भूषण आशु :चंडीगढ़. पंजाब विजिलेंस भ्रष्टाचार के मामलों में जहां हवालात में बंद पूर्व मंत्री साधू सिंह धर्मसोत की भूमिका की जांच कर रही है, वहीं अब पूर्व खाद्य एवं आपूर्ति मंत्री भारत भूषण आशू भी विजिलेंस की रडार पर हैं. बताया जा रहा है कि उनके खिलाफ 2 हजार करोड़ रुपए के टेडरों में कथित घोटाला करने के आरोप लगे हैं. एक ठेकेदार यूनियन के आरोप के बाद राज्य विजिलेंस ने इसकी जांच एसएसपी स्तर के अधिकारी को सौंपी है. कहा जा रहा है कि जांच अगर सही पाई जाती है तो आशु को विजिलेंस गिरफ्तार भी कर सकती है.

Related posts

उत्तर प्रदेश: देवरिया में बड़ा सड़क हादसा, बस और जीप की टक्कर में 6 लौगो की मौत

Anjali Tiwari

दिल्ली के CM केजरीवाल बोले- ‘मनीष सिसोदिया के खिलाफ आरोप पूरी तरह झूठे’

Anjali Tiwari

गेस्टहाउस बनाने के लिए सांसद व विधायक निधि से धनराशि दिए जाने का प्रस्ताव पास

Anjali Tiwari

Leave a Comment