नूपुर शर्मा को लेकर पोस्ट पर दिनदहाड़े हत्या, आगजनी… आखिर कैसे सुलग उठा उदयपुर, जानें सबकुछ

राजस्थान के उदयपुर में एक युवक की दिनदहाड़े उसकी दुकान में घुसकर हत्या कर दी गई. दिल दहला देने वाली वारदात के बाद गुस्साए लोग सड़क पर उतर आए. लोगों ने हत्या को लेकर विरोध जताया. सरकार ने बवाल के बाद इंटरनेट बंद कर दिया है. कुछ इलाकों में कर्फ्यू भी लगाया गया है. जानिए इस घटनाक्रम को लेकर कब क्या हुआ.

राजस्थान का उदयपुर शहर बीजेपी से निलंबित की जा चुकीं नूपुर शर्मा के समर्थन में पोस्ट को लेकर सुलग उठा है. उदयपुर में धानमंडी थाना क्षेत्र के मालदास स्ट्रीट में एक शख्स (कन्हैयालाल) के आठ साल के बेटे ने नूपुर को लेकर सोशल मीडिया पर पोस्ट किया था. इसके बाद से उसे लगातार धमकियां मिलने लगीं. मंगलवार को दो लोगों ने दुकान में घुसकर धारदार हथियार से बच्चे की पिता की बेरहमी से गला रेतकर हत्या कर दी. हैरानी की बात यह है कि आरोपियों ने कत्ल करने के बाद वीडियो भी जारी किया और उसने खुलेआम इस हत्या को जायज ठहराया. दोनों आरोपी मोहम्मद रियाज और गौस मोहम्मद को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है. फिलहाल उदयपुर में इंटरनेट बंद कर दिया गया है.

आइए हम आपको बताते हैं कि इस पूरी घटना का टाइमलाइन.
उदयपुर घटना को लेकर कब क्या हुआ, जानिए पूरा घटनाक्रम

18 जून को सोशल मीडिया पर पोस्ट डाला गया था.
18 जून को ही मृतक कन्हैयालाल के मोबाइल पर Whatsapp स्टेट्स डाला था.
यह पोस्ट डालने के बाद से उन्हें धमकियां मिल रही थीं.
28 जून की दोपहर 3 से 3:30 बजे के बीच आरोपी युवक टेलर कन्हैयालाल की दुकान पर आए.
आरोपियों ने पहले बातचीत में उलझाया. इसके बाद बोले कि कपड़े का नाप देना है.
नाप लेने के समय जैसे ही कन्हैयालाल पलटे, पीछे से आरोपियों ने धारदार हथियार से हमला कर दिया.
मृतक कन्हैयालाल की मौके पर ही मौत गई.
कन्हैयालाल की मौत के बाद नाराज लोग सड़क पर उतर आए.
घटना के बाद धानमंडी और घंटाघर थाना पुलिस मौके पर पहुंची और और शव को एमबी हॉस्पिटल की मोर्चरी में रखवाया.
उदयपुर में तनाव का माहौल होने की वजह से 24 घंटे के लिए इंटरनेट बंद कर दिया गया. उदयपुर में घटना को लेकर धानमंडी, घंटाघर, हाथीपोल, अंबामाता, सूरजपोल, भूपालपुरा एवं सवीना पुलिस थाना क्षेत्रों में आवागमन बंद कर पूर्णतः कर्फ्यू लगा कर्फ्यू लगा दिया गया है, यह आगामी आदेश तक प्रभावी रहेगा.
नाकाबंदी में दोनों आरोपी पकड़ लिए गए हैं. दोनों आरोपी बाइक से भाग रहे थे. आरोपी रियाज और गौर मोहम्मद को लेकर पुलिस उदयपुर रवाना हुई है.
अभी दोनों के पास से हथियार नहीं मिला है, उसकी कोशिश की जा रही है.

एसएचओ ने बताया कि दोनों आरोपी भागने की फिराक में थे, जिन्हें अरेस्ट कर लिया गया है. उदयपुर में टेलर कन्‍हैयालाल की हत्‍या का एक आरोपी मोहम्‍मद रियाज अंसारी भीलवाड़ा जिले के आसींद का रहने वाला है. उसके पिता जब्‍बार मोहम्‍मद लुहार की 2001 में मौत हो गई थी. इसके बाद रियाज अंसारी की उदयपुर में ही रह रहा था. हत्‍या के आरोपी मोहम्‍मद रियाज अंसारी के 3 भाई अभी आसींद में और 3 भाई अजमेर जिले के विजयनगर में रहते हैं. रियाज अंसारी का भीलवाड़ा से से कनेक्‍शन होने की जानकारी मिलने के बाद आसींद और जिले में सतर्कता बढ़ा दी गई है. घटना की जांच के लिए SIT का गठन किया गया है, जिसमें एसओजी एडीजी अशोक राठौड़, एटीएस आईजी प्रफुल्ल कुमार व एक एसपी और एडिशनल एसपी शामिल होंगे.

मृतक कन्हैयालाल के आठ साल के बेटे ने मोबाइल से नूपुर शर्मा के समर्थन में सोशल मीडिया पर पोस्ट कर दी थी. इसके बाद कुछ लोग नाराज हो गए और दो आरोपियों ने युवक की धारदार हथियार से बेरहमी से हत्या कर दी. इस घटना के बाद हिंदू संगठन में आक्रोश है. युवक की हत्या दो मुस्लिम आरोपियों ने तलवार से गला रेत इस मामले में आरोपियों ने वीडियो जारी कर हत्या की जिम्मेदारी भी ली. लोगों का कहना है कि हत्यारों को फांसी होनी चाहिए, ताकि ऐसा कृत्य दोबारा न हो. युवक का सिर काटकर की गई हत्या के विरोध में स्थानीय लोगों ने घटना के बाद मालदास गली क्षेत्र में दुकानों को बंद कर दिया है.

Related posts

Punjab: भगवंत मान ने अपने मंत्री को किया बर्खास्त, भ्रष्टाचार के आरोप में एंटी करप्शन ब्रांच ने किया गिरफ्तार

Anjali Tiwari

ब्रिटेन की इस फेमस महिला को 20 साल की सजा, लड़कियों के यौन शोषण मामले में दोषी

Swati Prakash

17 साल बाद सुनाया अहम फैसला बस जलाने के मामले में NIA कोर्ट का एक्शन

Swati Prakash

Leave a Comment