ब्रेकिंग न्यूज़

द्रौपदी मुर्मू बनीं भारत की पहली आदिवासी महिला राष्ट्रपति

नवनिर्वाचित राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने सोमवार यानी आज देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद की शपथ ग्रहण कर ली हैं. उन्हें सीजेआई एन वी रमन्ना ने शपथ दिलाई.

नई दिल्ली: नवनिर्वाचित राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने आज देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद की शपथ ग्रहण कर ली हैं. उन्हें सीजेआई एन वी रमन्ना ने शपथ दिलाई. अब उन्हें 21 तोपों की सलामी दी जाएगी. राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने शपथ ग्रहण करने के बाद संबोधन भी दिया.

शपथ समारोह की खास बातें

निर्वाचित राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू ने देश के सर्वोच्च संवैधानिक पद की शपथ ग्रहण कर ली हैं. इसके बाद उन्हें 21 तोपों की सलामी दी जाएगी. भारत के मुख्य न्यायाधीश एनवी रमना उन्हें राष्ट्रपति पद की शपथ दिलाई.

  1. उपराष्ट्रपति एवं राज्यसभा के सभापति एम. वेंकैया नायडू  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी,,लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला, मंत्रिपरिषद के सदस्य, राज्यपाल, मुख्यमंत्री, राजनयिक मिशनों के प्रमुख, संसद सदस्य और सरकार के प्रमुख असैन्य एवं सैन्य अधिकारी समारोह में शामिल रहे.
  2. द्रौपदी मुर्मू ने राष्ट्रपति पद की शपथ संसद के सेंट्रल हॉल ग्रहण की. जहां उन्हें एक ‘इंटर-सर्विस गार्ड ऑफ ऑनर’ दिया जाएगा और निवर्तमान राष्ट्रपति का शिष्टाचार सम्मान किया जाएगा.
  3. मुर्मू (64) ने बृहस्पतिवार को विपक्षी दलों के राष्ट्रपति पद के उम्मीदवार यशवंत सिन्हा को हराकर इतिहास रच दिया है.
  4. मुर्मू (Droupadi Murmu President) ने निर्वाचक मंडल सहित सांसदों और विधायकों के 64 प्रतिशत से अधिक वैध वोट प्राप्त किए और भारी मतों के अंतर से चुनाव जीता है. मुर्मू को सिन्हा के 3,80,177 वोटों के मुकाबले 6,76,803 वोट मिले और वह देश की 15वीं राष्ट्रपति बनेंगी.
  5. वह आजादी के बाद पैदा होने वाली पहली और शीर्ष पद पर काबिज होने वाली सबसे कम उम्र की राष्ट्रपति बनी. वह राष्ट्रपति बनने वाली दूसरी महिला भी हैं.
  6. वहीं निवर्तमान राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने निर्वाचित राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू, उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय मंत्रिपरिषद के सदस्यों के लिए रविवार को राष्ट्रपति भवन में रात्रिभोज की मेजबानी की थी.
  7. भारत के पहले राष्ट्रपति राजेंद्र प्रसाद ने 26 जनवरी 1950 को शपथ ली थी. 1952 में उन्होंने पहला राष्ट्रपति चुनाव जीता. राजेंद्र प्रसाद ने दूसरा राष्ट्रपति चुनाव भी जीता और मई 1962 तक इस पद पर रहे.
  8. सर्वपल्ली राधाकृष्णन ने 13 मई, 1962 को राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली और वह 13 मई, 1967 तक इस पद पर रहे. दो राष्ट्रपति – जाकिर हुसैन और फखरुद्दीन अली अहमद – अपना कार्यकाल पूरा नहीं कर सके क्योंकि उनका निधन हो गया था.
  9. भारत के छठे राष्ट्रपति नीलम संजीव रेड्डी ने 25 जुलाई 1977 को शपथ ली. तब से 25 जुलाई को ज्ञानी जैल सिंह, आर. वेंकटरमण, शंकर दयाल शर्मा, के.आर. नारायणन, ए.पी.जे. अब्दुल कलाम, प्रतिभा पाटिल, प्रणब मुखर्जी और रामनाथ कोविंद ने इसी तिथि को राष्ट्रपति पद की शपथ ली. कोविंद ने 25 जुलाई 2017 को भारत के 14वें राष्ट्रपति के रूप में शपथ ली थी.

Related posts

जीभ से फर्श साफ करवाया, पेशाब पिलाई रिटायर्ड IAS की पत्नी ने 8 साल बंधक रखा

Anjali Tiwari

चाकू घोंपकर हत्या कर लिया थप्पड़ का बदला, किया था बहन से छेड़छाड़ का विरोध

Anjali Tiwari

ओवैसी के सामने मुसलमानों ने लगाए ‘मोदी-मोदी’ के नारे, काले झंडे भी दिखाए

Anjali Tiwari

Leave a Comment