ब्रेकिंग न्यूज़

देश में रिकॉर्ड तोड़ रही गर्मी, कई शहरों में 45 डिग्री के पार पहुंचा पारा, 2 मई से राहत की उम्मीद

देश में कोरोना की चौथी लहर के खतरे के बीच गर्मी भी रिकॉर्ड तोड़ने लगी है। गुरुवार को देश के कई शहरों में अधिकतम तापमान 45 डिग्री के पार पहुंच गया। मौसम विभाग ने अगले तीन दिन भयंकर लू चलने और गर्मी का रिकॉर्ड टूटने की आशंका जताई है।

Heatwave in India: देश में कोरोना की चौथी लहर के खतरे के बीच गर्मी भी रिकॉर्ड तोड़ने लगी है। गुरुवार को देश के कई शहरों में अधिकतम तापमान 45 डिग्री के पार पहुंच गया। मौसम विभाग ने अगले तीन दिन भयंकर लू चलने और गर्मी का 64 साल का रिकॉर्ड टूटने की आशंका जताई है। देश के करीब 70% हिस्से में भीषण गर्मी का कहर जारी है। इसकी चपेट में देश की करीब 80% आबादी है। बुधवार को देश के 33 शहरों में तापमान 44 डिग्री को पार कर गया। इनमें सात शहरों में तो तापमान 45 डिग्री से भी ज्यादा रहा। मौसम विभाग का अनुमान है कि राजस्थान, पंजाब, हरियाणा, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात, बिहार, झारखंड में अप्रैल के बचे तीन दिनों में तापमान लगातार बढ़ेगा।

29 और 30 अप्रैल को भयंकर लू चलेगी। एक मई रविवार को संभवत: गर्मी का पीक रहेगा। रविवार को इन राज्यों के कई इलाकों में तापमान 47 से 48 डिग्री तक दर्ज हो सकता है। हालांकि 2 मई से तापमान कम होने की उम्मीद है।

यूपी में गर्म हवाएं चलेंगी, 3 दिनों तक राहत नहीं

उत्तर प्रदेश में मौसम तेजी से करवट ले रहा है। अप्रैल के आखिरी हफ्ते में गर्मी अपने चरम पर पहुंचती हुई दिखाई दे रही है। बुधवार को प्रदेश में सबसे ज्यादा गर्म झांसी शहर रहा। यहां का अधिकतम तापमान 45.5 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। मौसम विभाग ने लखनऊ समेत पूरे प्रदेश के लिए भीषण गर्मी का अलर्ट जारी किया है। लखनऊ समेत अन्य जिलों में अगले तीन दिन यानी शनिवार तक भीषण गर्मी पड़ेगी। इस दौरान 60 की स्पीड से गर्म हवाएं भी चलेंगीं।

15 गुना घट गया गंगा का जलस्तर

भीषण गर्मी का प्रकोप गंगा पर भी पड़ने लगा है। गंगा में नरौरा डैम से छोड़े जाने वाले पानी से गंगा में जलस्तर अच्छा बना रहता है, मगर तापमान बढ़ने के साथ ही नरौरा डैम से बीते 15 दिनों में पानी का डिस्चार्ज बेहद कम 12,010 क्यूसेक तक ही रह गया है। बीते 5 साल में पहली बार ऐसा हुआ कि अप्रैल में गंगा इतनी ज्यादा सूख गई है।

भीषण गर्मी का प्रकोप गंगा पर भी पड़ने लगा है। गंगा में नरौरा डैम से छोड़े जाने वाले पानी से गंगा में जलस्तर अच्छा बना रहता है। मगर, तापमान बढ़ने के साथ ही नरौरा डैम से बीते 15 दिनों में पानी का डिस्चार्ज बेहद कम 12,010 क्यूसेक तक ही रह गया है। इससे कन्नौज, कानपुर, प्रयागराज, गढ़मुक्तेश्वर, वाराणसी, बलिया समेत बड़े शहरों में गंगा घाटों से दूर हो गई हैं। इन शहरों में जलसंकट खड़ा होने वाला है।

 

Related posts

हाईकोर्ट ने लिया मोरबी पुल हादसे का स्वतः संज्ञान, गुजरात सरकार से लेकर मानवाधिकार आयोग को नोटिस

Anjali Tiwari

त्योहारी सीजन में ‘अमूल’ का जोरदार झटका, जनता की जेब पर बढ़ा बोझ, दो रुपए प्रति लीटर महंगा हुआ दूध

Swati Prakash

Punjab: भगवंत मान ने अपने मंत्री को किया बर्खास्त, भ्रष्टाचार के आरोप में एंटी करप्शन ब्रांच ने किया गिरफ्तार

Anjali Tiwari

Leave a Comment