ब्रेकिंग न्यूज़

दिल्ली में रामलीला ग्राउंड से कभी सिर तो कभी पैर, यूं एक-एक कर मिल रहे हैं मानव अंग, आखिर कौन है कातिल ?

दिल्ली पुलिस को पिछले तीन दिन से रामलीला ग्राउंड में एक-एक करके मानव शरीर के कटे हुए अंग मिल रहे हैं. हालांकि, ये अंग किसके हैं और कौन इन्हें यहां फेंक रहा है, पुलिस इन सवालों के जवाब तलाशने में जुटी है.

दिल्ली के पांडव नगर इलाके में पिछले तीन दिनों से सनसनी फैली है. यहां पुलिस को एक-एक करके एक शरीर के अंग मिल रहे हैं. तीन दिन में पुलिस को तीन कभी सिर, कभी पैर तो कभी हाथ बरामद हुए हैं. हालांकि, ये अंग किसके हैं, किसने फेंके हैं और क्यों ऐसे अलग-अलग कर फेंके जा रहे हैं. इन सब सवालों के जवाब पुलिस अभी भी तलाश रही है. पुलिस के साथ-साथ लोगों को भी जवाब की तलाश है. आखिर कौन है वो इलाके में यूं मानव अंग फेंकने में लगा और दहशत फैला रहा है

बता दें कि पांडव नगर के रामलीला ग्राउंड में पुलिस को तीन दिन में तीन मानव शरीर के तीन अलग-अलग अंग बरामद हुए हैं. इस रहस्य को सुलझाना बाकी भी है और ये पुलिस के लिए चुनौती भी है. मामले की जानकारी देते हुए दिल्ली ईस्ट डिस्ट्रिक्ट की डीसीपी प्रियंका कश्यप ने बताया कि 5 जून को पुलिस को पेट्रोलिंग के दौरान बदबू महसूस हुई. जिसके बाद पुलिस ने मौके पर पहुंच कर देखा तो वहां एक बैग पड़ा था. बैग को खोलकर देखा गया तो उसमें मृतक शरीर के दोनों पैर कटे हुए पड़े थे लेकिन शरीर का ऊपरी हिस्सा गायब था.

इस मामले में पुलिस अभी छानबीन ही कर रही थी. पुलिस तमाम सीसीटीवी की मदद से से आरोपी तक पहुंचने की कोशिश कर रही थी. तभी 7 जून को फिर से इसी ग्राउंड में एक सिर मिला. इसके बाद इलाके में दहशत का माहौल हो गया. पुलिस अभी सिर और पैर के मामले में छानबीन कर ही रही थी कि 8 जून को पुलिस को दोनों हाथ मिले. एक-एक करके भले शरीर के अंग मिलते जा रहे हों लेकिन सवाल ये है कि ये अंग हैं किसके और वो शख्स कौन है, जो लगातार बॉडी के पार्ट्स फेंक रहा है. पुलिस अब तमाम पहलुओं से आरोपी तक पहुंचने में लगी है. पुलिस तमाम थानों से गुमशुदगी की रिपार्ट के जरिये भी पता लगा रही है लेकिन अरोपी बहुत शातिर है. जो बड़े शातिराना तरीके से कत्ल करने के बाद उसके टुकड़े कर ठिकाने लगाने में लगा है

मानव अंग किसके अभी रहस्य ?

आपको बता दें अभी तक पूरी तरह से यह भी स्पष्ट नहीं हो पाया है कि जो मानव अंग मिल रहे हैं, वह किसी महिला के हैं या फिर पुरुष के हैं.कुछ लोगों का कहना है कि जो पैर और सर मिला है, वो महिला के लग रहे हैं लेकिन प्रशासन का कहना है कि जब तक पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट नहीं आ जाती है, तब तक कुछ भी कहना जल्दबाजी होगा.

रिहायशी इलाकों के बीच में कैसे पहुंच रहे हैं अंग ?

आपको बता दें जिस जगह पर मानव अंग मिल रहे हैं, वह रिहायशी इलाकों के बीच में है. ठीक सामने मेट्रो स्टेशन है. साथ ही ग्रीन बेल्ट है, वहां पर भारी संख्या में लोग झुग्गी झोपड़ी बनाकर रह रहे हैं. ऐसे में यह कहना गलत नहीं होगा कि इस जगह हमेशा चहल-पहल बनी रहती है. सवाल इस बात का है कि इतने व्यस्ततम इलाके में वो कौन है, जो बड़ी आसानी से मानव अंग को फेंक कर लापता हो जाता है. जिसे स्थानीय लोग तो छोड़िए पुलिस भी नहीं तलाश कर पा रही है.

फ्रीजर में रखा था सर!

जी मीडिया ने इस मामले में एक चश्मदीद से भी बात की. इलाके में मानव अंग बरामद होने से लोग काफी ज्यादा दहशत में हैं. पुलिस ने आसपास के घरों के फ्रिज को खुलवा कर देखा है क्योंकि जब सर बरामद हुआ तो वह काफी ठंडा था. ऐसे लग रहा था जैसे सर को फ्रीजर में रखा गया हो. लेकिन अभी तक आसपास के इलाकों में भी कोई गुमशुदगी की रिपोर्ट पुलिस के पास नहीं आई है. यही वजह है कि यह पता लगाना बेहद मुश्किल हो रहा है कि आखिरकार यह बॉडी पार्ट्स किसके हैं.

Related posts

भारत में 85 फीसदी बच्चे साइबरबुलिंग के शिकार

Swati Prakash

Women’s T20 Challenge: पुरुषों के बाद अब महिलाओं के IPL में मचेगी धूम,

Anjali Tiwari

राखी के त्योहार पर कम हुए सोने-चांदी के भाव

Anjali Tiwari

Leave a Comment