एक सप्ताह पहले ही रच ली गई थी जहांगीरपुरी हिंसा की साजिश, जानिए अहम बातें

दिल्ली के जहांगीरपुरी में हनुमान जन्मोत्सव पर निकाली गई शोभा यात्रा के दौरान हिंसा की साजिश एक सप्ताह पहले यानी रामनवमी के दिन ही रच ली गई थी।

दिल्ली के जहांगीरपुरी में हनुमान जन्मोत्सव पर निकाली गई शोभा यात्रा के दौरान हिंसा की साजिश एक सप्ताह पहले यानी रामनवमी के दिन ही रच ली गई थी। इसे अंजाम देने के लिए छतों पर पत्थर, रोड़ी व ईंटें एकत्रित कर ली गई थीं। हिंसा के मुख्य साजिशकर्ता अंसार ने रामनवमी वाले दिन 9 से 13 लोगों के साथ कुशल चौक के पास बैठक की थी। इस बैठक में हिंसा की साजिश को रचा गया, जिसमें यह तय हुआ कि शोभायात्रा को कुशल चौक से नहीं गुजरने दिया जाएगा।

पुलिस ने कहा- अधिकांश आरोपी गिरफ्तार, धरपकड़ जारी

शोभा यात्रा में बहस करने वाला आरोपी अंसार ही मुख्य साजिशकर्ता हैं। वह संगठित आपराधिक गिरोह चलाता था। यह खुलासा दिल्ली पुलिस ने गृहमंत्रालय को सौंपी रिपोर्ट में किया है। दिल्ली पुलिस के अधिकारियों का कहना है कि जहांगीरपुरी हिंसा के अधिकांश आरोपी गिरफ्तार कर लिए गए हैं। जो भी बचे हुए हैं उनकी धरपकड़ के लिए दबिश दी जा रही है। दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि रामनवमी वाले दिन अंसार की कुछ लोगों के साथ कुशल चौक के पास बैठक हुई थी। इस बैठक में हिंसा की साजिश को रचा गया था, जिसमें यह तय हुआ था कि शोभा यात्रा को कुशल चौक से नहीं गुजरने दिया जाएगा। यही मुद्दा था जिसके कारण हिंसा हुई थी।

जुलूस के पीछे शामिल लोगों से अंसार ने की थी बहस

तीसरी बार जब यात्रा यहां से गुजर रही थी, तो अंसार यात्रा में पीछे शामिल लोगों से बहस करने लग गया था।  उसके बाद पथराव शुरू हो गया था। पुलिस अधिकारी ने खुलासा किया है कि साजिश को अंजाम देने के लिए एक सप्ताह पहले से ही घरों की छतों पर पत्थर, रोड़ी व ईंटें एकत्रित करना शुरू कर दिया गया था।

घरों की छतों पर पुलिस को भारी संख्या में मिले ईंट, पत्थर

छतों पर ईंटें व पत्थर एकत्रित करने की पुष्टि इस बात से होती है कि दिल्ली पुलिस की फोरेंसिक टीम जब छतों पर जांच करने गई तो वहां काफी मात्रा में ईंट व पत्थर मिले थे। पुलिस के अनुसार अंसार पर दो जानलेवा हमला, आर्म्स एक्ट तथा सट्टेबाजी के पांच आपराधिक मामले दर्ज हैं। आपराधिक प्रवृति का अंसार सट्टेबाजी का संगठित गिरोह चला रहा था। ये भी बात सामने आई है कि वह झुग्गी बस्ती वालों से उगाही भी करता था। इलाके में उसका खौफ था और लोग उससे डरते थे।

 

 

Related posts

भूख से मर रहे हैं, ये चिंता का विषय : सुप्रीम कोर्ट

Anjali Tiwari

Sri Lanka के राष्ट्रपति Gotabaya Rajapaksa क्या सऊदी अरब जा रहे हैं सिंगापुर से भाग कर ?

Anjali Tiwari

खाने के पैकेट में था 5 लाख का सोना, बच्चों ने फेंका और चूहे उठा ले गए

Anjali Tiwari

Leave a Comment